Mahavir Mandir
Mahavir Mandir-Patna
MS Logo
BIHAR
line decor

दासोsहं कोसलेन्द्रस्य रामस्याक्लिष्टकर्मणः। हनूमान् शत्रुसैन्यानां निहन्ता मारुतात्मजः।।

    
line decor

 
 
 
Home
Trust Committee
Hospitals
Deities
Rituals
Arati
Festivals
Naivedyam
Publication
Income & Exp.
Donation
::  Philanthropic works
Other temples
Events
Contact Us

आज दिनांक 31.03.2014 को महावीर मन्दिर में नववर्ष विक्रम संवत् 2071 के आरम्भ के साथ भगवान् के भोग के रूप में ‘पोंगल-भोग’ का शुभारम्भ किया गया। यह तिरुपति के मन्दिर में भगवान् को भोग लगाया जाता है। यह अन्न-भोग है जो चावल का बनता है। महावीर मन्दिर में तिरुपति के कुशल सूपकार (रसोइया) इसे पारम्परिक तरीके से बनायेंगे। इसे बनाने के लिए तिरुपति से ही अलग से सूपकार मँगाये गये हैं। तिरुपति के कारीगरों का बनाया हुआ नैवेद्यम् लड्डू भक्तों के बीच ख्याति प्राप्त कर चुका है।

मन्दिर में आज से दिन के 11 बजे होनेवाली भोग-आरती से पहले हनुमानजी के साथ-साथ महावीर मन्दिर में स्थापित अन्य देवताओं को भी लगेगा।

मन्दिर की ओर से यह व्यवस्था की गयी है कि जो श्रद्धालु भगवान् के लिए 1,100 रुपये का शुल्क जमा करेंगे उनके नाम पर देवता को भोग लगने के बाद प्रसाद के रूप में दिया जायेगा।

आज बिहार के लेडी गवर्नर के कर-कमलों से यह भोग अर्पित किया गया तथा वे आरती में सम्मिलित हुईं।

इसके बाद मन्दिर परिसर में उपस्थित श्रद्धालुओं ने सहभोज के रूप में यह प्रसाद ग्रहण किया। इस सहभोज में लगभग 500 लोग उपस्थित हुए।

इससे पहले जगन्नाथ मन्दिर, पुरी के अनुरूप ‘‘कैवल्यम्-भोग’’ की व्यवस्था मन्दिर की ओर से की गयी थी, तथा बिक्री का प्रावधान किया गया था और संख्या अनिश्चित होने कारण अधिक मात्रा में भोग बनाया जाता था जिससे बरबादी होती थी।

इस बार बिक्री का प्रावधान नहीं है। जो श्रद्धालु पूर्व में 1,100 रुपये शुल्क जमा करेंगे उन्ही को यह प्रसाद दिया जायेगा

पटना, दिनांक-31.03.2014

Bhagawan Ka Bhog

भगवान् के भोग के रूप  में ‘पोंगल’ का शुभारम्भ

 

Viraat

Ramayan

Mandir

World's largest Hindu temple
Viraat Ramayan Mandir

The grand project

of

Mahavir Mandir,

Patna

visit the site>>