Dharmayan Vol. 85

महावीर मन्दिर प्रकाशन

धर्मायण

(धार्मिक, सांस्कृतिक एवं राष्ट्रीय चेतना की त्रैमासिक हिन्दी पत्रिका)
नवीनतम अंक संख्या 85, जनवरी-मार्च, 2015
पृ. सं. 64, प्राप्तिस्थान- महावीर मन्दिर परिसर

आलेख-सूची

  1. श्रीराम-स्तुति (सात्वत-तन्त्र से)
  2. हनुमत्-स्तुति– सुरेश चन्द्र मिश्र
  3. देवी-पूजन में सर्वोत्तम नैवेद्य का विवेचन– भवनाथ झा
  4. वैष्णव सन्त तुलसीदास की अन्तर्यात्रा– डा. राजेश्वर नारायण सिन्हा
  5. रामायणकालीन- जव्यवस्था–  डा. मोना बाला
  6. तुलसी का युगबोध एवं सामाजिक आदर्श– श्री राकेश चन्द्र मिश्र ‘विराट्’
  7. लोकदेवता महात्मा गणिनाथ एवं योगेश्वर– गोविन्दजी श्री गोपाल भारतीय
  8. मूर्ख के लक्षण– प्रो. रामविलास चौधरी
  9. रुद्राक्ष के धार्मिक अनुप्रयोग– डा. मगनदेव नारायण सिंह
  10. गर्भस्थ परीक्षित पर भगवान् श्रीकृष्ण की कृपा– डा. जयनन्दन पाण्डेय
  11. अद्भुत है हमारा शरीर– डा. नीरज कुमार मिश्र
  12. ज्योतिष की दृष्टि में मानसिक रोग एवं अस्थमा रोग– डा. राजनाथ झा
  13. अन्य स्थायी स्तम्भ
  14. योग की परिभाषा
  15. बोध-कथाएँ- बौद्ध एवं जैन बोध कथाएँ
  16. संस्कृत-पाठ (संस्कृत सीखें)
  17. मन्दिर समाचार-परिक्रमा आदि
  18. महावीर मन्दिर में विभिन्न पूजन मदों में निर्धारित शुल्क