महावीर मन्दिर में नैवेद्यम्…

दिनांक 17 अगस्त 2020 से भगवान को भोग लगाने के लिये अर्पितम् की बिक्री ऑनलाइन होगी। जो लोग मन्दिर के नैवेद्यम काउंटर पर जा सकेंगें, उन्हें भोग लगाने के लिये नैवेद्यम् काउण्टर पर उपलब्ध होगा।

महावीर मन्दिर में दर्शन हेतु व्यवस्था

मंगलवार और शनिवार को ऑनलाइन बुकिंग के माध्यम से दर्शन होगा। जो ऑनलाइन बुकिंंग नहीं कर सकते हैं उनके लिए निर्देश यहाँ दिये गये हैं।

महावीर मन्दिर देश के प्रमुख मन्दिरों में क्यों माना जाता हैं?

यह देश का एक मात्र हनुमान मन्दिर है जहाँ एक ही गर्भगृह में हनुमानजी के दो विग्रह हैं। यह आस्था है कि इनमें से एक दुष्टों का संहार करते हैं तथा दूसरे भक्तों की कामना पूर्ण करते हैं। इसे ‘मनोकामना-पूरन मन्दिर’ कहा जाता है।

Sarasvati Puja 2020

माता सरस्वती को ज्ञान-विज्ञान की देवी माना गया गया है। वैदिक काल में भी वाणी, जिह्वा, संगीत आदि से सम्बद्ध देवता के रूप में वाग्देवी सरस्वती स्थापित हो चुकी थी।

New Year 2020

महावीर मन्दिर नववर्ष 2020 ईस्वी में सभी श्रद्धालुओं का स्वागत है। ख्रीष्ट नववर्ष 2020 की मंगलकामना के साथ इस अवसर पर दिनांक 01 जनवरी, 2020 को महावीर मन्दिर से अपडेट्स … Read More

Arpitam

मन्दिर में प्रत्येक दिन हनुमानजी के गर्भगृह में विधिवत् भोग लगाकर 200 ग्राम के इस पैकेट को 58 रुपये में मन्दिर से बाहर निकलने के स्थान पर उपलब्ध कराया गया है।

विशालनाथ महादेव मन्दिर, हाजीपुर

Vishalanath Shiva Temple यह शिव मन्दिर गंगा एवं गंडक के संगम पर महावीर मंदिर द्वारा बनाया गया है। यहाँ गुप्तकालीन शिवलिंग एवं शिवा-पारवती की आधुनिक मूर्तियाँ हैं। यह शिवमन्दिर बिहार … Read More