Dr. Sudarshan Shrinivas Shandilya

डा. सुदर्शन श्रीनिवास शाण्डिल्य

  • जन्मतिथि- 12/8/1959
  • जन्मस्थान- मधेपुरा जनपदान्तर्गत ऐतिहासिक सांस्कृतिक ग्राम फुलौत। इस ग्राम में धूमावती देवी का अवतार स्थल है। साथ साथ ज्वालामुखी देवी से अनुमोदित, अभिस्थापित है। आज भी ज्वालामुखीदेवी का सर्ववर्ग में विशिष्ट प्रभाव है। उनकी विधिवत् दैनिक पूजा होती है। कुलदेवी भी हैं।
  • वर्तमान पता- बेऊर जेल के पीछे शिवनगर कालोनी, मार्ग नं 10,  भवन संख्या 8, ज्योतिषभवन

प्रारम्भिक शिक्षा- माधवानन्द शाह आलमनगर उच्चविद्यालय में विज्ञान विषय

उच्च शिक्षा- नव्य-न्याय-व्याकरणाचार्य, 1980 ई.

गुरु

  1. स्व. उपेन्द्र झा, नैयायिकशिरोमणि
  2. पं. कुलानन्द मिश्र
  3. पं. रामसेवक झा
  4. पं.  रामदेव झा

विद्यावारिधि

शब्दशक्तिमधिकृत्य नैयायिकमतविवेचनम् विषय पर पी-एच.डी.

अध्यापन

  1. व्याकरण प्राध्यापक,  श्रीराम संस्कृत महाविद्यालय सरौती, अरवल जहानाबाद। (वर्तमान)
  2. व्याकरण प्राध्यापक, ब्रजभूषण संस्कृत महाविद्यालय गया।

सम्मान

  • 2015 बिहार हिन्दी साहित्य सम्मेलन द्वारा पं रामनारायण शास्त्री सम्मान मान्या सुश्री मृदुला सिन्हा के करकमलों से।
  • दि. 6 अप्रैल, 2019 को मारवाडी सम्मेलन शिक्षा समिति, पटना द्वारा शिक्षारत्न से सम्मानित।
  • 2019 में संस्कृतदिवस के शुभावसर पर बिहार राज्य संस्कृत अकादमी पटना द्वारा सम्मान

ग्रन्थ-लेखन

  1. वैयाकरणसिद्धान्त कौमुदी के कारक प्रकरण की हिन्दी व्याख्या (अप्रकाशित)

विशेष योगदान

  1. गीता प्रचार-प्रसार कार्य २००८ ई. से
  2. 2015 ई. से विधिवत् गीताज्ञानसंचरणसमिति संस्था द्वारा राष्ट्रिय परिधि में पाटलिपुत्र में गीता के गूढ विषयों पर प्रथित विद्वानों द्वारा गम्भीर परिचर्चा संचरित है।

लेखन कार्य-

विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में आध्यात्मिक आलेख। विशेष रूप से दैनिक पत्र “आज” में समय समय सर व्रतनिर्णायक लेख तथा सांस्कृतिक लेख। हिन्दुस्तान, दैनिक भास्कर में भी ज्ञानसंचरण मुद्रण अग्रसर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *